एक कोशिश

एक कोशिश ~मन कि एक ख़याल~

•खुद को जीत लिया तो दुनिया को जीत लिया•

हर सुबह जब नींद खुलती है

एक नई ज़िन्दगी जीने की अहसह होती है

क्या पता आप किश से जितना चाह ते है

 

पर में तो ख़ुद को ख़ुद से जीतने की

 

एक कोशिस मे लग जाता हुँ

क्यूँ कि मुझे पता है जिस दिन में ख़ुद को जीत लिया

दुनिया मेरे क़दमों में होगी

दुनिया मेरे क़दमों में होगी

•••••ख़ुद से जीत के तो देखो•••••#Thoughts put to #Words

#CreativeSiba

https://clicksbysiba.wordpress.com/2017/09/18

One thought on “एक कोशिश”

  1. very nice thought.
    sir I have changed he featured image according to the post theme,as that pic was already used in other poetry post
    moreover I have changed your site’s url in to link form,so that visitors may reach to your blog just by cliking on it.
    so please add your blog’s url in link from

    AATIF

Leave a Reply